दान-पुण्य/विज्ञापन

एक लेखक हमेशा कल्पना से अमीर मगर जेब से गरीब होता हैं।

​ऐसे ही लेखको की सेवा का बीड़ा हमने उठाया हैं। अगर आप भी इस पुनीत कार्य में हाथ बंटाना चाहते हैं तो आपका स्वागत हैं। बदले में आपका नाम सुनहरे अक्षरों में इस वेबसाइट पर दर्ज होगा और गरीब लेखको की दुआएं मिलेगी।
अधिक जानकारी के लिए संपर्क करे-

Contact Us

Advertisements